भगवान को ना कोसें….

भगवान को ना कोसें…. बहादुर सिंह गाँव के संपन्न किसानों में से एक थे। भरा पूरा घर था, किसी चीज़ की कमी ना थी। कमी थी तो बस एक चीज़ की, भगवान ने जितना दिया उससे कभी खुश नहीं रहते थे। बहादुर सिंह को हमेशा भगवान से यही शिकायत रहती ...

Read More »

Ek bade aadmi ki kahani …

Dera beas Satsang pandal

एक आदमी के पास बहुत धन था। इतना कि अब और धन पाने से कुछ सार नहीं था। जितना था, उसका भी उपयोग नहीं हो रहा था। मौत करीब आने लगी थी। न बेटे थे, न बेटियां थीं, कोई पीछे न था। और जीवन धन बटोरने में बीत गया। गया ...

Read More »

Satsang dera beas main last month ki

radha-soami-satsang-dera-beas

सतसंग 11/9/16 डेरा ब्यास… बाबा जी नें तुलसीदास जी की वाणी… “दिल का हुजरा साफ कर, जाना के आने के लिए, ध्यान गैरों का हटा, उसके बैठाने के लिए.” पर लगभग 1 घण्टा 23 मिनट का सतसंग फरमाया… शब्द के शुरू से ही बाबा जी नें अपने अंतर मन को ...

Read More »

Lalch Buri Bula Story

लालच बुरी बला है :- एक शहर में एक आदमी रहता था। वह बहुत ही लालची था। उसने सुन रखा था की अगर संतो और साधुओं की सेवा करे तो बहुत ज्यादा धन प्राप्त होता है। यह सोच कर उसने साधू-संतो की सेवा करनी प्रारम्भ कर दी। एक बार उसके ...

Read More »

Baba ji ke sath sawal jawab…

Baba ji ke sath sawal jawab… लड़की – बाबा जी हमारे पास मे एक आन्टी रहती है उसने मुझसे पुछा की तुम नानवेज खाती हो ? मैने कहा नही आईएम प्योर वेज !! मैने उनसे पुछा की आप खाते हो ? तो वो बोली, हा खाती हू जब भगवान ने ...

Read More »

hamesha ki tarah simran karte raho …

हमेशा की तरह सिमरन करते हुए अपने कार्य में तत्लीन रहने वाले भक्त रविदास जी आज भी अपने जूती गांठने के कार्य में ततलीन थे अरे,,मेरी जूती थोड़ी टूट गई है,,इसे गाँठ दो,,राह गुजरते एक पथिक ने भगत रविदास जी से थोड़ा दूर खड़े हो कर कहा आप कहाँ जा ...

Read More »

Maa ki icha kya hoti hai read kare …..

*माँ की इच्छा* _महीने बीत जाते हैं ,_ _साल गुजर जाता है ,_ _वृद्धाश्रम की सीढ़ियों पर ,_ _मैं तेरी राह देखती हूँ।_ _आँचल भीग जाता है ,_ _मन खाली खाली रहता है ,_ _तू कभी नहीं आता ,_ _तेरा मनि आर्डर आता है।_ _इस बार पैसे न भेज ,_ ...

Read More »
error: Content is protected !!