Maaf karna Sikho par Story

जब तक हम दूसरों को माफ़ करना नहीं शिखते , हम परमात्मा से भी कैसे माफ़ी की उम्मीद कर सकते हैं। जो भी लोगों ने हमारे खिलाफ जो भी कुछ किया है यदि हम उन्हें माफ़ कर देते हैं तो वो मालिक भी हमें हमारे गुनाहों को माफ़ कर देगा। वो मालिक भी हमें बक्श देगा। परन्तु हमें माफ़ी तो सिर्फ सद्द गुरु द्वारा बतायी गयी युक्ति के जरिये जब हम शब्द या नाम की कमाई कर कर इस भजन – सिमरन – कीर्तन का अभ्याश करते हैं तो वो इस युक्ति से हमारे जन्म – जन्मान्तर के कर्म के बंधन काट देता है। और इस तरह वो हमें बक्श देता है या माफ़ कर – कर

वापश हमें अपने पास बुलाकर अपने में ही समा लेता है। परन्तु जीवित व्यक्ति से तो हमें खुद्द ही माफ़ी मांगनी होगी। अगर हम उसे माफ़ कर देते हैं तो हमारा उस के साथ कोई भी हिसाब – किताब नहीं रहता नहीं तो हमें उस के साथ लेन – देन का हिसाब किताब चुकता करने के लिए वापश – २ आना होगा। यदि हम उस से माफ़ी नहीं मांगते और वो मर जाता है तब भी हमें उस का हिसाब – किताब तो चुकाना ही होगा।
सभी प्यारे सतसंगी भाई बहनों और दोस्तों को हाथ जोड़ कर प्यार भरी राधा सवामी जी..

Updated: December 17, 2016 — 7:23 pm
Radha Soami Satsang Beas (RSSB Satsang) © 2019 RssbSatsang.com
error: Content is protected !!