Category: Satsang

Baba sawan Ji maharaj ki sewa

baba sawan singh ji rara pic

Bibi, who once Laajo Sawan Singh Ji Maharaj Rhtithy’s services. Asks Sir true Patshah Lack of compassion to get the mercy Mahar What is the easiest way? Responding to major Maharaji Brothers and sisters who we listen carefully we Satsngi of Logॊ Complain that our work does not. Large Maharaj Sahib respond. Bibi day we […]

Aj satsang ki 2 batye man ko chuu gayi

आज सत्संग की 2 बातें मन को छू गयी। 1. हमें बाहर के संगीत एवं नज़ारे बहुत अच्छे और लुभावने लगते हैं। खासकर आज जैसे दिन (नव-वर्ष का पहला दिन) लेकिन किसी ने अंदर के संगीत और नजारों को महसूस नहीं किया है। बाहर की चीज़ों का वक़्त मुकर्रर होता है लेकिन अंदर तो अनहद […]

सिमरन क्या है? – Simran kya hai

सिमरन क्या है??, “सिमरन” हाथ पैरो से नहीं होता है। वर्ना विकलांग कभी नहीं कर पाते। सिमरन ना ही आँखो से होता है वर्ना सूरदास जी कभी नहीं कर पाते। ना ही सिमरन बोलने सुनने से होता है वर्ना “गूँगे” “बैहरे” कभी नहीं कर पाते। ना ही “सिमरन” धन और ताकत से होता है वर्ना […]

सत्संग जाना……

radha soami shabad

सत्संग जाना…… कई लोग 20, 30, 40, या कई कई सालों से सत्संग जाते हैं, पर आज तक कुछ भी प्राप्त नहीं हुआ, गुरु की प्राप्ति नहीं हुई, नाम दान लेकर बैठे हैं नित नेम सत्संग जाते हैं, पर result purely ZERO. क्यों ? क्या आपका गुरु योग्य नहीं है ? क्या गुरु के नाम […]

Ek admi satsang sunne ata tha

radha-soami-satsang-dera-beas

एक संत के पास बहरा आदमी सत्संग सुनने आता था।उसके कान तो थे पर वे नाड़ियों से जुड़े नहीं थे।एकदम बहरा, एक शब्द भी सुन नहीं सकता था। किसी ने संत श्री से कहाः”बाबा जी ! वे जो वृद्ध बैठे हैं, वे कथा सुनते सुनते हँसते तो हैं पर वे बहरे हैं।” बहरे मुख्यतः दो […]

Satsang. Satsangi aur Hum..

radha soami dera beas ji

Satsang. Satsangi aur Hum.. जब जब कोई भी संत महात्मा गुरु सतगुरु हमें नाम की बक्षीश करते हैं तब तब हमें वार वार चेक किया जाता है. पूछा जाता है कि अाप नाम दान के लिये तैयार हो.? नाम सिमरन करोगे. और कई ऐसे सवाल किये जाते हैं ताकि हमें नाम दान के बाद पछतावा […]

हुज़ूर महाराज चरण सिंह जी हिमाचल में सत्संग

काफी पुरानी बात उन दिनों की है जब हुज़ूर महाराज चरण सिंह जी हिमाचल में सत्संग कर रहे थे। हुज़ूर माहराज के समय गुरुप्यारी साध संगत को सत्संग के बाद स्टेज के पास दर्शन देनें की परंपरा थी। हुजूर सत्संग पश्च्यात स्टेज की गुरु गद्दी पे विराजित होते और संगत लाईन लगा के हुज़ूर माहराज […]

Satsang main jane ka kabhi alas nhi krna chaiye

सत्संग में जाने का आलस्य नहीं करना चाहिए और न ही देर से पहुंचना चाहिए। यदि हमें कचहरी में कोई काम हो या स्टेशन पर जाकर गाड़ी पकड़नी हो तो हम कभी देर से नहीं जाते, इसी प्रकार संगत में भी समय पर पहुंचना चाहिए। जीवन को ठीक ढंग से चलाने के लिए साध संगत […]

Sikandarpur main baba ji ne satsang ki

तारीख 20/11/16 सिकंदरपुर के सतसंग में बाबाजी ने – नामे ही ते सब कुछ होया वाणी पर सतसंग किया! बाबाजी बहुत emotional थे,बहुत निराश थे ,और हों भी तो क्यों नही क्यों कि कमियाँ तो हमारी तरफ से हैं! और सतसंग के आखिर में बोले कि मैं बहुत समझा चुका हूं कि तुसी भजन सिमरन […]

Radha Soami Satsang Beas (RSSB Satsang) © 2019 RssbSatsang.com
error: Content is protected !!