Home / Sakhi (page 3)

Sakhi

Sakhi ek old lady ki

A Sufi mystic lady became a rabiya she did not see anything bad in anybody. That is the symptom of the saint. She also saw the thorn, the song came out of her praise, her friend, her disciples and other mystics were very upset, One day a fakir Hassan said ...

Read More »

Satsang ka fal Sakhi by baba ji

radha soami baba ji with guards

सत्संग का फल एक था मजदूर। मजदूर तो था, साथ-ही-साथ किसी संत महात्मा का प्यारा भी था। सत्संग का प्रेमी था। उसने शपथ खाई थी! मैं उसी का बोझ उठाऊँगा, उसी की मजदूरी करूँगा, जो सत्संग सुने अथवा मुझे सुनाये. प्रारम्भ में ही यह शर्त रख देता था। जो सहमत ...

Read More »

Lahore ke ladke ki Sakhi…. (must read)

radha soami baba ji with guards

Lahaurakeladkekisakhi…. A Lahore boy was a satsang and a loving creature. When Verma’s battle began, the Satguru took care of it. Did not meet the ship tickets at that time. Satguru gave a vision. Said-“Thou walk, the ticket will be found when two ships are removed, then sit in the ...

Read More »

Ek satsangi satsang sunne aya karta tha SAKHI

एक महाजन सत्संग सुनने जाया करता था। एक दिन उसके पुत्र ने कहा कि आप रोज सत्संग में जाते हो आज मैं जाऊंगा। पिता ने कहा कि अच्छा जा। खैर ! पुत्र सत्संग में गया। बड़े प्रेम के साथ वचन सुनता रहा।  वहां यह विषय आया कि किसी का नुकसान ...

Read More »

A very nice heart touching saakhi…

Posting as received… A very nice heart touching saakhi… ? सत्संग में नींद आ जाती है 2010 मार्च visit to Dera Beas ….. night duty मिली। सत्संग का प्रोग्राम खत्म हो चुका था। सिर्फ नामदान की बक़शीश वाली संगत ही रूकी थी। कैंटीन एक ही खोलने का हुक्म था। तभी ...

Read More »
error: Content is protected !!