Home / Real Story (page 3)

Real Story

एक आदमी ने नारदमुनि से पूछा मेरे भाग्य में कितना धन है…

एक आदमी ने नारदमुनि से पूछा मेरे भाग्य में कितना धन है… नारदमुनि ने कहा – भगवान विष्णु से पूछकर कल बताऊंगा… नारदमुनि ने कहा- 1 रुपया रोज तुम्हारे भाग्य में है… आदमी बहुत खुश रहने लगा… उसकी जरूरते 1 रूपये में पूरी हो जाती थी… एक दिन उसके मित्र ...

Read More »

एक गुरू का दास रोज गुरू के द्वार पर जा कर….

एक गुरू का दास रोज गुरू के द्वार पर जा कर रोज गुरू को पुकारा करता था लेकिन गुरू के दर्शन नहीं कर पाता था इसलिए वह हमेशा यही सोच कर चला जाता था कि शायद मेरी भक्ति भाव में कुछ कमी है इसलिए वो हर रोज बहुत ही प्रेम ...

Read More »

एक कहानी जो आपके जीवन से जुडी

एक कहानी जो आपके जीवन से जुडी है । ध्यान से अवश्य पढ़ें– एक अतिश्रेष्ठ व्यक्ति थे एक दिन उनके पास एक निर्धन आदमी आया और बोला की मुझे अपना खेत कुछ साल के लिये उधार दे दीजिये , मैं उसमे खेती करूँगा और खेती करके कमाई करूँगा, वह अतिश्रेष्ठ ...

Read More »

ek din Mazooda baba ji taran taran ke satsang ghar pe gaye

radhasoami vyas

मौजूदा सरकार तरनतारन के सरप्राइज विजिट पर थे । दर्शन के बाद बहुत सारे लोगों ने अपनी-अपनी बात कही । अंत में एक बुजुर्ग जो पीछे बैठे थे , कुछ कहने की इच्छा जाहिर की । सतगुरु ने इशारा किया तो बीच से रास्ता साफ हो गया । बुजुर्ग आगे ...

Read More »

Aaj ka Ruhani Vichar (read here)

आज का *रूहानी विचार –* Eh sakhi sardar bahadur singh ji de time di hai… ikk unna da bda nazdiki sewadar c… unna da baba ji nal bdda pyar c.. os time unna di umar 26 saal c.. ikk din baba ji sachkhad darbaar wich latt te latt rakh k ...

Read More »

Ek chooti se kahani by Satsangi

radhasoami vyas

एक छोटी सी कहानी ….. मैंने सुना है कि जब सृष्टि बनी और ईश्वर ने सारी चीजें बनाईं, और जब उसने आदमी बनाया, तो वह अपने देवताओं से पूछने लगा कि यह आदमी मुझे बड़ा शिकायती मालूम पड़ता है। यह बन तो गया, लेकिन यह छोटी-छोटी शिकायत लेकर मेरे द्वार ...

Read More »

Ek seth Sethani roz satsang main jate the (Real Story)

radhasoami

*एक सेठ और सेठानी रोज सत्संग में जाते थे। सेठजी के एक घर एक पिंजरे में तोता पाला हुआ था। तोता एक दिन पूछता हैं कि सेठजी आप रोज कहाँ जाते है। सेठजी बोले कि सत्संग में ज्ञान सुनने जाते है। तोता कहता है, सेठजी संत महात्मा से एक बात ...

Read More »
error: Content is protected !!