Baba Gurinder Singh Ji Born Story

rssb baba gurinder singh_babaji

Radha Soami Ji… When BABA GurinderSingh Ji was Born On 1st August 1954, Something Very Very Strange Happened !!! Guess What ? BABAJI kept His Eyes Closed For 3 Days ! All Docters Were Shocked !!! BABAJI’s Father Called Maharaj Ji ! Maharaj Ji Reached The Hospital At Dera !!! ...

Read More »

Beas Railway Station bache ki sakhi

Radha Swami vyas

Once upon a time, the boy was waiting at the station and he was waiting for the train to return home from Beas. A baby’s crying cry was coming. Some sages have asked for the reason of crying, then it is known that the child is insisting on going back. ...

Read More »

Baba ji ne Sakhi Sunai “Ek Sister dere main langar ki sewa krti”

aapne ander sirf parmatma di aas(umeed) rakho sab dukh khatam ho jaan ge

एक बहन किसी डेरे में अपने मुर्शिद के हुक्म अनुसार लंगर की सेवा करती थी। जाणी-जान सतगुरु के हुक्म अनुसार उसकी डेरे में हाजिरी हर रोज जरूरी थी और एक दिन उसका छोटा लड़का उम्र लगभग 7 साल, उसे तेज बुखार हो गया। उस बीबी ने बच्चे को दवाई देकर, ...

Read More »

Very heart touching Story of small Children

rssb vyas

Very heart touching Story… एक पाँच छ: साल का मासूम सा बच्चा अपनी छोटी बहन को लेकर मंदिर के एक तरफ कोने में बैठा हाथ जोडकर भगवान से न जाने क्या मांग रहा था । कपड़े में मैल लगा हुआ था मगर निहायत साफ, उसके नन्हे नन्हे से गाल आँसूओं ...

Read More »

Satsang ka FAL kese milta hai read this story

radhasoami

सत्संग का फल एक चोर राजमहल में चोरी करने गया, उसने राजा-रानी की बातें सुनी । राजा रानी से कह रहे थे कि गंगा तट पर बहुत साधु ठहरे हैं, उनमें से किसी एक को चुनकर अपनी कन्या का विवाह कर देंगें । यह सुनकर चोर साधु का रुप धारण ...

Read More »

Engineer Sahab ki sakh send by Sewadaar

radha soami ji

वीरवार…. सदा की तरह अपनी सेवा पर लंगर टी स्टाल पे… दोपहर लंच के बाद इंजीनियर साहब के साथ कुछ समय बिताने का मौका मिला… इस बार कई महीने बाद… जब भी उनके पास बैठते हैं तो कोई न कोई किस्सा निकल ही आता है… तो बात गीत संगीत में ...

Read More »

Real Satsangi kon hai Read kare aur share kare

baba ji in satsang

सत्संगी कौन ? मालिक ने सत्संगी उन्हें कहा जो लाेग मालिक की रजा में रहे मालिक की याद में रहें जो पल पल उस मालिक के नाम का सिमरन करें । जिसके दिल में मालिक की जगह हों। और जो दिन रात मालिक के प्यार के लिए तडपतें है । ...

Read More »
error: Content is protected !!